बिहार: बिहार को ब्लैक फंगस की दवा लीपोसोमल एंफोटेरीसीन बी इंजेक्शन-एंबिसोम का 1460 वायल आवंटित- अश्विनी कुमार चौबे

पटना, 28 मई 2021: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि ब्लैक फंगस को लेकर केंद्र सरकार अत्यंत गंभीर है और और राज्यों का हर तरीके से मदद कर रही है। इस क्रम में शुक्रवार को बिहार को ब्लैक फंगस की दवा लीपोसोमल  एंफोटेरीसीन बी इंजेक्शन-एंबिसोम का 1460 वायल आवंटित किया गया है।

केंद्रीय मंत्री चौबे ने कहा कि दवा की उपलब्धता और राज्यों की जरूरत के अनुसार लगातार आवंटन किया जा रहा है जिस क्रम में आज लीपोसोमल  एंफोटेरीसीन बी- एंबिसोम इंजेक्शन का कुल 80000 वायल का आवंटन विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए किया गया जिसमें 1460 वायल का आवंटन बिहार के लिए हुआ। ब्लैक फंगस के बढ़ते खतरे को को देखते हुए मैंने प्रभावित मुख्य राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों से इसे महामारी घोषित करने का आग्रह किया था जिसके उपरांत 7 राज्यों ने अपने यहां इसको महामारी घोषित कर दिया है। केंद्र सरकार राज्यों सहित अन्य सभी प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के संपर्क में है और ब्लैक संगत से संबंधित किसी भी सहायता के लिए हमेशा तैयार है।

बिहार में भी ब्लैक फंगस ही बढ़ती हुई स्थिति को देखते हुए पटना एम्स में पहले 20 बेड का ब्लैक फंगस वार्ड बनाया गया जिसको बढ़ाकर अब 40 बेड का किया जा रहा है। हालांकि ब्लैक फंगस वार्ड के अलावे कोरोना वार्ड में भी इसका इलाज किया जा रहा है। राज्य सरकार ने अन्य अस्पतालों में भी इसके इलाज की व्यवस्था की है तथा इसको बढ़ाने की कोशिश कर रही है।

चौबे ने लोगों से बेवजह ज्यादा परेशान होने से बचने और इसके समुचित इलाज के लिए केंद्र और राज्य सरकार के अस्पतालों में इलाज करवाने सलाह दी। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस का इलाज संभव है और हमारे अस्पतालों में उपलब्ध है। इसके लक्षण को देखते ही आप तुरंत अस्पताल में इलाज के लिए संपर्क करें  केंद्र और राज्य सरकार आम लोगों के इलाज के लिए सभी प्रकार से तत्पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *