नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल कि दाम में उछाल, कुछ शहरो में पेट्रोल पेट्रोल का दाम 102 रूपए तक पंहुचा

नई दिल्ली, मई 7, 2021: पेट्रोल के दाम में लगातार उछाल आ रही है। पांच राज्यों में चुनाव होने के तुरंत बाद पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार इजाफा हो रहा है। शुक्रवार को राजस्थान के श्रीगंगानगर में पेट्रोल का दाम 102 के भी पार चला गया हैं, मध्यप्रदेश का भी कुछ यही हाल है। मध्यप्रदेश के अनूपपुर में पेट्रोल का दाम 102 रूपए से बस 14 पैसे कम है।

शुक्रवार को दिल्ली में पेट्रोल के दाम में 28 पैसे का उछाल आया अब यहां पेट्रोल कि कीमत 91.27 रूपए प्रति लीटर है। जबकी डीजल 31 पैसे के उछाल के साथ 81.73 रूपए प्रतिलीटर पर जा पंहुचा है। कुछ समय से राज्यों के विधानसभा चुनाव कि वजह से कच्चे तेल के महंगे होने के बाद भी पेट्रोल-डीजल के दाम में कुछ बदलाव नहीं हुआ। फरवरी में क्रूड ऑइल का दाम 61 डॉलर था जो कि मार्च में बढ़कर 64.73 डॉलर हो गया। अभी क्रूड ऑइल का दाम 69 डॉलर हो गया है, इस वजह से आने वाले दिनों में पेट्रोल का दाम बढ़ सकता है। पेट्रोल और डीजल में 2-3 रूपए का इजाफा हो सकता है।

विदेशी मुद्रा दारों के साथ ही इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑइल के कीमतों के हिसाब से रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतो में बदलाव होता है।ऑइल मार्केटिंग कंपनीया क्रूड ऑइल की कीमतों के हिसाब से पेट्रोल और डीजल के दाम में रोजाना बदलाव करती है। इंडियन ऑइल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम रोजाना सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल के दाम में संसोधन करती है फिर उसे जारी करती है।

आप SMS के माध्यम से रोज अपने यहां के पेट्रोल और डीजल के दाम चेक कर सकते है। इंडियन ऑइल के उपभोक्ता RSP<डीलर कोड>लिखकर 9224992249 नंबर पर और HPCL के उपभोक्ता HPPRICE <डीलर कोड>लिखकर 9222201122 पर लिखकर भेज सकते है। जबकी BPCL के उपभोक्ता RSP <डीलर कोड>लिखकर 9223112222 नंबर पर भेज सकते हैं।

जानिए कुछ शहरो में आज पेट्रोल और डीजल का क्या दाम हैं:

शहर         पेट्रोल रूपए/लीटर    डीजल रूपए/लीटर

मुंबई         97.61                        88.82

पुणे          96.47                        86.13

बेंगलुरु       94                            86.13

पटना         93.92                      86.94

चेन्नई         93.15                       86.65

कोलकाता     91.41                   84.57

दिल्ली         91.27                     81.73

रांची          88.57                      86.34

चंडीगढ़       87.8                       81.4

…………………………………………

नई दिल्ली: टीकाकरण की रफ्तार तेज करने के लिए निजी कंपनीयों को मिल सकती है वैक्सीन बनाने की अनुमति

नई दिल्ली, मई 6, 2021: केंद्र सरकार वैक्सीनेशन की रफ्तार को तेज करने के क्रम में कुछ सरकारी और प्राइवेट कंपनियों को वैक्सीन बनाने की अनुमति दे सकती है। सूत्रों की माने तो शीर्ष स्तर पर इस बात पर चर्चा चल रही है।

केंद्र सरकार के मिजूदा पेटेंट कानून के हिसाब से उनको यह अधिकार है कि वह आपात परिस्थितियों के चलते किसी दवा या वैक्सीन बनाने की अनुमति दूसरी कंपनीयों को दे सकती है। जिससे वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ेगी। बृहद टीकाकरण अभियान में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को शामिल किए जाने के बाद वैक्सीन की भारी मांग बढ़ने की आशंका है।

सूत्रों की माने तो वैक्सीनेशन को अधिक रफ्तार देने को सरकार अभी सबसे ज्यादा प्राथमिकता दे रही है। इस परिस्थिति में सरकार के पास स्वदेशी वैक्सीन का जल्द से जल्द उत्पादन बढ़ाना ही एकमात्र विकल्प हो सकता है। इस वजह से कुछ सरकारी और निजी दवा कंपनीयों को टीका बनाने की अनुमति मिल सकती है।

सरकार ने सीरम इंस्टिट्यूट को सिविसील्ड की 11 करोड़ और भारत बायोटेक को कोवैक्सीन की पांच करोड़ डोज बनाने का ऑर्डर दिया है। इसकी आपूर्ति इंस्टिट्यूट जून, जुलाई तक करेंगी। लेकिन यदि इसकी आपूर्ति समय पर भी होती है तो भी यह तीन महीने तक टीकाकरण के तय औसत को पूरा नहीं कर पाएगी। जबकि सरकार वैक्सीनेशन की रफ्तार को तेज करना चाहती है। फिलहाल 20-25 लाख वैक्सीन रोज लगाने का औसत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *