बजरी के अवैध खनन, परिवहन व भण्डारण के खिलाफ 13 जिलों में अभियान जारी

जयपुर, 27 अक्टूबर, 2020: राज्य के माइंस विभाग द्वारा बजरी के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान में बड़ी कार्यवाही करते हुए अब तक 194 वाहन-मशीनरी जब्त की जा चुकी हैं वहीं 110 मामलों में पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है।
माइंस एवं पेट्रोलियम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देशन में राज्य के 13 जिलों में माइंस, राजस्व, वन, परिवहन व पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त रुप से बजरी के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ 15 अक्टूबर से अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह अभियान 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा।
गौरतलब है कि माइंस एवं पेट्रोलियम मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया ने स्पष्ट किया है किराज्य सरकार अवैध बजरी खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ ठोस कार्यवाही कर रही है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की मंशा और प्रतिबद्धता का ही परिणाम है कि एक साथ 13 जिलों में जिला कलक्टर के निर्देशन में संबंधित विभागों व पुलिस प्रशासन की सहभागिता से बजरी के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ अभियान का संचालन हो रहा है। उन्होंने बताया कि अभियान के सकारात्मक परिणाम भी प्राप्त हो रहे हैं।
एसीएस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अभियान के तहत 25 अक्टूबर तक बजरी के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के 262 मामलें सामने आए हैं। पुलिस में 110 प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करवाई गई हैं वहीं 31 लाख 14 हजार 565 रुपये की राशि वसूली गई है। उन्होंने बताया कि संयुक्त अभियान के दौरान मौके पर 41 हजार 241 टन बजरी जब्त करने के साथ ही राज्य में अभियान के दौरान पोकलेन, ट्रेक्टर आदि सहित 194 वाहन-मशीनरी की जब्ती की गई है।
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अभियान के दौरान सर्वाधिक 72 मामलें भीलवाड़ा में सामने आए हैं। वहां पुलिस में 61 एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है। 21439 टन बजरी की जब्ती के साथ ही भीलवाड़ा में 40 वाहन-मशीनरी जब्त की गई है। जयपुर में 44 मामलें सामने आए हैं, जयपुर में 3150 टन बजरी जब्ती के साथ ही 42 वाहन-मशीनरी जब्त की गई है। वाहन-मशीनरी में टोंक में 28, चित्तोड़गढ़ में 6, राजसमंद में 16, सवाई माधोपुर में 20, धौलपुर में 2, जोधपुर में 20, उदयपुर में 7, पाली में 5, बाड़मेर में 2 और सिरोही में 6 वाहन-मशीनरी जब्त की गई है। इसी तरह से टोंक में 3820, चित्तोड़गढ़ में 3320, राजसमंद में 930, सवाई माधोपुर में 5260, धौलपुर में 200, जोधपुर में 1464, उदयपुर में 140 और बाड़मेर मेें 1518 टन बजरी जब्त की गई है।
एसीएस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अभियान के दौरान 25 अक्टूबर तक 31 लाख 14 हजार 565 रु. की वसूली की है जिसमें जोधपुर में सर्वाधिक 20 लाख 80 हजार, उदयपुर में 5 लाख 23 हजार व राजसमंद में 2 लाख 79 हजार से अधिक की वसूली की गई है। अभियान के दौरान पुलिस में सर्वाधिक 61 एफआईआर भीलवाड़ा में दर्ज की गई हैं वहीं जयपुर में 1, टोंक में 22, चित्तोड़गढ़ में 8, राजसमंद में 5, सवाईमाधोपुर में 3, जोधपुर में 3, उदयपुर में 2 और पाली में 4 एफआईआर दर्ज कराई गई है।
निदेशक माइंस श्री केबी पाण्ड्या ने बताया कि बजरी के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ राज्य में जिला कलक्टर के निर्देशन में अभियान जारी है। उन्होंने बताया कि माइंस, राजस्व, वन, परिवहन और पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त रुप से चलाया जा रहा अभियान 31 अक्टूबर तक चलाया जाएगा। अभियान की नियमित मोनेटरिंग की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *