बिहार: केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ऑक्सीजन तथा अन्य व्यवस्थाओं के लिए रक्षा मंत्री एवं इस्पात मंत्री से की बात

पटना, अप्रैल 19, 2021: पटना साहिब सांसद सह विधि व न्याय,संचार और सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्‍ट्रानिक्‍स मंत्री, भारत सरकार रविशंकर प्रसाद द्वारा लगातार पटना तथा सम्पूर्ण बिहार की स्थिति पर नजर रखते हुए, संबंधित पदाधिकारियों व भारत सरकार के प्रतिष्ठानों के साथ लगातार संपर्क साधा हुआ है।

वर्तमान में पटना के विभिन्न सरकारी व निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की डिमांड कई गुना बढ़ गई है। ऑक्सीजन का उत्‍पाद दो तरीके से यथा सीधा हवा के माध्‍यम से तथा लिक्विड ऑक्सीजन के माध्‍यम से किया जा सकता है। यहां उल्लेखनीय है कि लिक्विड ऑक्सीजन बड़े स्‍टील प्‍लांट में औद्योगिक जरूरत के लिए उत्पाद की जाती है। इस लिक्विड ऑक्सीजन से मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडर का उत्‍पाद कई गुना तथा कम से कम समय में किया जा सकता है।

इसे देखते गए रविशंकर प्रसाद ने स्टील मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से फोन पर चर्चा की। इस चर्चा में बोकारो स्‍टील प्‍लांट से जल्द ही पटना को अतिरिक्त मात्रा में लिक्विड ऑक्सीजन उपलब्ध कराने हेतु निवेदन किया गया। इसी क्रम में सांसद प्रसाद द्वारा टाटा समूह के चेयरमैन नटराजन चंद्रशेखरन से भी जमशेदपुर प्लांट से लिक्विड ऑक्सीजन उपलब्ध कराने हेतु वार्ता की गई।

रविशंकर प्रसाद द्वारा ESI बिहटा हॉस्पिटल को भी अविलंब सेना के डॉक्टरों तथा अन्‍य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जी से वार्ता कर निवेदन किया गया।

उन्होने पटना के जिलाधिकारी (कलेक्टर) डॉ चंद्रशेखर सिंह से भी कोरोना के संबंध में विस्तृत समीक्षा की तथा उनसे पूरे शहर में सेनेटाइजेशन, साफ-सफाई और कोरोना की जांच की व्यवस्था के लिए सभी जरूरी कदम उठाने हेतु आग्रह किया। इसके अतिरिक्त सभी सरकारी तथा निजी अस्‍पतालों के प्रबंधन के साथ भी समन्‍वय स्‍थापित करने तथा अधिक से अधिक लोगों को कोरोना का इलाज समय उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया गया।

प्रसाद ने सभी नागरिकों से भी आह्वान किया कि वह कोरोना अनुकूल व्यवहार,यथा मास्‍क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना तथा भीड़ वाले इलाकों से दूरी बनाए रखने हेतु कहा। साथ ही उन्होंने सभी पदाधिकारियों को किसी भी कार्य सहयोग हेतु सदैव उपलब्‍ध होने तथा केंद्रीय स्तर की सभी जरूरतों को पूरा करने हेतु मदद हेतु आश्वस्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *