बिहार: पटना के मेदान्ता अस्पताल को कोविड अस्पताल बनाया जाए: रविशंकर प्रसाद 

पटना, अप्रैल 25, 2021: पटना साहिब सांसद सह विधि व न्याय, संचार और सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मेदान्ता ग्रुप के अध्यक्ष (चेयरमैन) और देश के जाने-माने डॉ नरेश त्रेहान से व्यक्तिगत रूप से आग्रह किया है कि मेदान्ता ग्रुप के द्वारा निर्मित पटना के कंकड़बाग अवस्थित मेदान्ता अस्पताल को अविलंब कोविड के इलाज हेतु डेडीकेटेड अस्पताल के रूप में शुरू किया जाए।

प्रसाद ने डॉ त्रेहान से यह आग्रह किया कि एक बड़ा अस्पताल बना है और कोरोना के बढ़ती हुई संख्या के आलोक में इसको तुरन्त आरम्भ किया जाए। डॉ त्रेहान ने श्री प्रसाद को आशवस्त किया है कि इसे बहुत जल्द ही शुरू करवा देंगें।

ई.एस.आई.सी. के बिहटा स्थित अस्पताल हेतु सेना के छः और डॉक्टर पहुंच गए है जिससे कोविड इलाज में सुविधा हुई है। रविशंकर प्रसाद ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से आग्रह किया है कि सेना के डाक्टर की संख्या बिहटा के अस्पताल के लिए और बढ़ाई जाए जिसके कारण कोरोना मरीज के इलाज में सहयोग मिलेगा। ऑक्सीजन के आपूर्ति के लिए प्रसाद ने केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल तथा पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान से कई बार विशेष आग्रह किया था। स्वयं स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय भी इस दिशा में प्रयासरत थे। बिहार की ऑक्सीजन की आवश्यकता हेतु वायुसेना के विशेष विमान से ऑक्सीजन कन्टेनर ट्रक आज से बोकारो स्टील प्लान्ट एयरलिफ्ट होना शुरू हो गया। अब जल्द ही वहां से पटना रवाना होगा, ऐसा अधिकारियों ने आशवस्त किया है।

ज्ञातव्य है कि पूर्व में प्रसाद ने ऑक्सीजन आपूर्ति हेतु एन चन्द्रशेखरन, टाटा संस  सन्श के अध्यक्ष(चेयरमैन) से आग्रह किया था जिसके फलस्वरूप टिस्को, जमशेदपुर से लिक्विड ऑक्सीजन पटना में आ रहा है जिससे ऑक्सीजन सिलेण्डर बड़ी संख्या में बनाया जा रहा है।

कल रविशंकर प्रसाद ने अपने संसदीय क्षेत्र पटना साहिब से बाँकीपुर के विधायक सह पथ निर्माण मंत्री नीतिन नवीन एवं दीघा के विधायक सह प्रदेश महामंत्री संजीव चौरसिया, पटना महानगर भाजपा के जिलाध्यक्ष अभिषेक कुमार, जिला के सभी पदाधिकारियों एवं सभी मण्डल अध्यक्षों के साथ व्यापक वर्चुअल चर्चा की और स्थिति को सुधारने के लिए उनके विचार जाना। उनसे चर्चा के आलोक में प्रसाद ने पटना के जिलाधिकारी (कलेक्टर) चन्द्रशेखर सिंह और पटना नगर निगम के आयुक्त हिमांशु शर्मा को विशेष निर्देश दिया कि पटना में सेनेटाइजेशन के कार्य को और तेजी से किया जाए, साफ सफाई का ध्यान रखा जाए, सब्जी बेचने के लिए कॉलोनी, मुहल्ले मे ही ठेले से उपलब्धता हो जिससे सब्जीमंडी में भीड़ न हो। पटना अवस्थित सभी शवदाह-गृह एवं घाटों की साफ-सफाई एवं अंतिम संस्कार में सहूलियत और मृतकों के शव को उचित प्रकार से रखने एवं देख-रेख हेतु उचित नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाए।

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वे बिहार और पटना में स्थिति को सुधारने हेतु भारत सरकार की मदद से पूरे सक्रिय है और स्वास्थ्य मंत्री के साथ जीवन्त सम्पर्क में भी है। प्रसाद ने आज एम्स पटना के निदेशक से भी बात की और उन्होंने इस बात पर संतोष जाहिर किया की एम्स पटना ने अपने बेड की संख्या को 330 कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *