बिहार: कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए केंद्र राज्यों को हर संभव उपलब्ध करा रहा है मदद: अश्विनी चौबे

पटना, अप्रैल 17, 2021: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि केंद्र नियमित रूप से राज्यों के साथ संपर्क में है। जहां कोरोना के अधिक मामले प्रकाश में आ रहे हैं। वहां पर विभिन्न पहलुओं की मॉनिटरिंग की जा रही है। केंद्र द्वारा हर संभव मदद उपलब्ध कराया जा रहा है। सभी राज्यों को वैक्सीनेशन को बढ़ाने के साथ-साथ टेस्टिंग, ट्रैकिंग व ट्रीटमेंट पर जोर देने को कहा गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे एशियन सोसायटी फॉर इमरजेंसी मेडिसिन द्वारा भारत मे कोरोना की दूसरी लहर पर आयोजित सेकंड वेब समिट को वर्चुअल माध्यम से पटना से संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि 12 करोड़ से अधिक टीकाकरण शनिवार तक हो चुका है। इसमें प्रतिदिन तेज गति जारी है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर 11 से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाया गया। जिसमें दूरदराज के गांवों तक के लोगों ने बड़े उत्साह से टीकाकरण अभियान में हिस्सा लिए। इसकी गति और बढाई जा रही है।

सबमिट में अन्य देशों के कोरोना के विभिन्न प्रकारों के भारत में मौजूदगी पर भी चर्चा हुई। दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील एवं यूके के वेरिएंट को लेकर इमरजेंसी मेडिसिन के डॉक्टरों ने अपनी राय दी।

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि भारत में प्रतिदिन टेस्टिंग अधिक हो इस पर बल दिया गया है। औसतन 14 लाख से अधिक प्रतिदिन टेस्ट किया जा रहा है। 30 लाख से अधिक औसत टीकाकरण हो रहा है। समिट में अंतर्राष्ट्रीय चिकित्सा सलाहकारों से अश्विनी चौबे ने महत्वपूर्ण सुझाव भी मांगे।

सबमिट को  एशिया सोसाइटी फॉर इमरजेंसी मेडिसिन के प्रेसिडेंट डॉ तमोरिश कोले, इमरजेंसी फिजिशियन डॉक्टर तारिक खान, कम्युनिटी मेडिसिन पावापुरी के एचओडी डॉ सुमन कुमार, यूनाइटेड किंगडम से इमरजेंसी मेडिसिन के डॉक्टर क्रिस मॉलटोन, हेल्थ रिसर्च क्रिस विलियम्स, नेशनल सेक्रेटरी एंड चेयर साउथ वेस्ट ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ

फिजीशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन प्रोफेसर पराग सिंघल, डॉ अशोक कुमार, यूएई से डॉ

सालेह फ़ारस, बांग्लादेश से डॉक्टर राघिब मंज़ूर, डॉक्टर मुश्ताक हुसैन एवं सिंगापुर से डॉक्टर मोहन तिरु आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *