स्व-सहायता समूहों को हर माह 150 करोड़ रूपए देने की व्यवस्था – मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल : फरवरी 08, 2021: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंहचौहान ने कहा है कि प्रदेश में स्व-सहायता समूहों को सशक्त बनाने की दिशा में निरंतरप्रयास किए जा रहे हैं। स्व-सहायता समूहों को हर माह 150 करोड़ रूपये देने की व्यवस्थासरकार ने की है। आगे भी समूहों को सहायता मिलती रहेगी। श्री चौहान ने “आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश” पर केन्द्रित प्रदर्शनी के अवलोकन के दौरान यह बात स्व-सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओंसे कही। मोतीमहल परिसर में लगाई गई प्रदर्शनी में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा “लोकल फॉर वोकल” के तहत ग्रामीणों को आत्म-निर्भर बनाने के लिये किए गए प्रयास एवं ग्वालियरजिले के लिए “एक जिला एक उत्पाद” के तहत चिन्हित सैण्ड स्टोन टाइल्सस्मार्ट सिटीके तहत किए गए महत्वपूर्ण कार्यग्वालियर शहर को स्वच्छता में अव्वल बनाने के लियेकिए जा रहे प्रयास तथा अमृत योजना के तहत हो रहे सीवर और पेयजल के कामों को प्रदर्शितकिया गया था।  

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहानकेन्द्रीय मंत्री श्रीनरेन्द्र सिंह तोमर एवं राज्यसभा सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने स्व-सहायता समूहकी दीदी कैफे से जुड़ी महिलाओं द्वारा बनाई गई चाय भी कुल्हड़ से पी।  ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमरसूक्ष्मलघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचापंचायत एवं ग्रामीण विकासमंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदियाउद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री भारत सिंह कुशवाहनगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री श्री ओ.पी.एस.भदौरिया एवं लोक निर्माण राज्य मंत्री श्री सुरेश धाकड़सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकरसहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आत्म-निर्भरमध्यप्रदेश बनाने की दिशा में मध्यप्रदेश राज्य आजीविका मिशन और जिला पंचायत ग्वालियरद्वारा लगाई गई प्रदर्शनी सराहनीय है। मुख्यमंत्री श्री चौहान को प्रदर्शनीके अवलोकन के दौरान समूह से जुड़ी श्रीमती प्रियंका राजपूत ने बताया कि आपके निर्देशनमें स्व-सहायता समूह आगे बढ़ रहे हैं। साथ ही समूह की सभी बहनों के आधार-कार्ड बनाएजा चुके हैं। श्री चौहान ने कहा कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के अंतर्गत एक जिला एक उत्पादसैण्ड स्टोन टाइल्स के प्रोडक्ट के माध्यम से लगाई गई प्रदर्शनी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि स्टोनके कार्य और गतिविधियों को आगे बढ़ाया जाये। ग्वालियर में स्टोन का अच्छा काम हो रहाहै। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्मार्ट सिटी के अवलोकन के दौरान कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षणमें ग्वालियर को पहले स्थान पर लाने के प्रयास किए जायें, जिससे स्वच्छता में ग्वालियरप्रदेश में अग्रणी स्थान प्राप्त कर सके। इस दौरान संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेनाने बताया कि तीन हजार लोगों को स्मार्ट सिटी में साथी बनाया जायेगा। इससे स्मार्ट सिटी कीगतिविधियों को और आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी।

स्मार्टसिटी की प्रदर्शनीविरासत का सर्वेक्षण एवं नागरिक सुविधाओं का प्रदर्शन

            स्मार्टसिटी की प्रदर्शनी के माध्यम से ग्वालियर में महत्वपूर्ण कार्यो की श्रृंखला में हेरिटेजके कार्य़ग्रीन स्पेस की उपलब्धता तथा सुदृढ़ यातायात के लिये स्मार्ट रोड एवं मोबिलाइजेशनसे संबंधित कार्यों को दर्शाया गया था। इन परियोजनाओ से जहाँ शहर की विरासत को संरक्षणकर सहेजा जा रहा है, वहीं उन परियोजनाओ के पूर्ण होने पर शहर के नागरिकों को अत्याधुनिकसुविधाएँ भी मिल रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *