प्रदेश की पहली रात्रि सफारी वन विहार उद्यान में हुई शुरू

भोपाल :  मार्च 5, 2021: वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने कहा है कि नैसर्गिक सौन्दर्य से परिपूर्ण और वन्य प्राणियों को अब दिन के साथ-साथ अब रात्रि में देखने के लिये ‘रात्रि सफारी’ की सौगात दी गई। वन मंत्री वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भोपाल के विहार वीथिका में प्रदेश की पहली रात्रि सफारी का शुभारंभ कर रहे थे।

वन मंत्री ने कहा कि वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में रात्रि सफारी के शुरू होने से पर्यटकों का आकर्षण बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि वन विहार में प्रतिवर्ष 6 लाख पर्यटक आते हैं। इससे तकरीबन ढाई करोड़ वार्षिक आमदनी होती है। उन्होंने कहा कि इसके प्रारंभ होने से पर्यटकों की संख्या में दोगुनी बढ़ोतरी होगी।

मुख्यमंत्री की कल्पना को एक महीने के भीतर किया साकार

वन मंत्री कुंवर शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 14 फरवरी 2021 को वन विहार भ्रमण के समय निर्देश दिये थे कि वन विहार को सिंगापुर स्थित राष्ट्रीय पार्क से बेहतर वन विहार का मॉडल बनाया जाना चाहिए। वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों के अथक प्रयासों का नतीजा है कि एक महीने के पहले ही रात्रि सफारी का शुभारंभ कर मुख्यमंत्री के सपनों को साकार किया।

बैटरी चलित नाव से पर्यटक देख सकेंगे पक्षियों को

वन मंत्री ने कहा कि वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में मौजूद 187 विभिन्न प्रजाति की चिड़ियों को बैटरी चलित नाव में बैठकर पक्षी दर्शन किये जा सकेंगे। उन्होंने इसके लिये बैटरी चलित दो नाव कराने के लिये पाँच-पाँच लाख रूपये देने की घोषणा भी की। वन मंत्री कुंवर शाह ने ‘भोज वेटलेण्ड विन्टर बर्ड काउन्ट 2020-21’ का विमोचन भी किया।

वन्य प्राणियों के उपचार में हैं अव्वल

वन मंत्री ने कहा कि वन्य प्राणियों की सुरक्षा और बीमार वन्य जीवों के ईलाज के मामले में हमारा प्रदेश अव्वल है। वन विहार के चिकित्सक डॉ. अतुल गुप्ता एवं वन्य प्राणी चिकित्सक दल द्वारा घायल बाघों और वन्य प्राणियों का ईलाज कर उन्हें स्वछंद विचरण कराने में प्रशंसनीय कार्य कर वन विभाग का गौरव बढ़ाया है।

वन मंत्री ने लिया रात्रि सफारी का आनंद

वन मंत्री कुंवर शाह ने रात्रि सफारी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और स्वयं रात्रि सफारी में बैठकर वन विहार का भ्रमण किया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव वन श्री अशोक वर्णवाल, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख श्री राजेश श्रीवास्तव और वन विहार संचालक श्री अजय कुमार यादव मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *