बिहार: मेदान्ता अस्पताल अगले सप्ताह कोविड के उपचार लिए आरम्भ हो जाएगा।

पटना, 14 मई 2021: केन्द्रीय विधि व न्याय, संचार और सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्राॅनिक्स मंत्री रविशंकर प्रसाद आज अपने संसदीय क्षेत्र पटना साहिब के दौरे पर थे। हालांकि, लाॅकडाउन के नियमों के कारण वो सामुदायिक किचन, अस्पतालों का निरिक्षण नहीं कर पाए।

रविशंकर प्रसाद ने पटना साहिब संसदीय क्षेत्र के चारों विधायक नन्दकिशोर यादव, अरूण सिन्हा, पथ निर्माण मंत्री नीतिन नवीन, संजीव चैरसिया और भाजपा पटना महानगर के अध्यक्ष अभिषेक कुमार के साथ पटना के जिलाधिकारी चन्द्रशेखर सिंह एवं अन्य पदाधिकारियों के साथ बहुत ही व्यापक और विस्तृत समीक्षात्मक बैठक की। प्रसाद ने प्रमुख रूप से ये सुझाव दिया कि विभिन्न अस्पतालों में कितने खाली बेड, कितने आईसीयू और वेन्टिलेटर बेड उपलब्ध है इसकी जानकारी जनप्रतिनिधियों और जनता के लिए सार्वजनिक रूप से उपलब्ध होना चाहिए ताकि बीमारी की अवस्था में जनता को राहत मिले। साथ ही टेस्टिंग की रिपोर्ट 48 घण्टे के अन्दर उपलब्ध हो इसकी पूरी कोशिश की जाए तथा वैक्सिेनेशन की प्रक्रिया में तेज गति लायी जाए। प्रसाद ने ये विशेष रूप से आग्रह कि 18 से 45 वर्ष के आयु सीमा मे बड़ी संख्या में महिला और युवतियाँ भी वैक्सीन का आग्रह रखेगी, अतः उनके लिए अलग से व्यवस्था रखनी चाहिए।

पटना के जिलाधिकारी ने यह विशेष रूप से सूचना दी की अभी ऑक्सीजन का अभाव नहीं  है और रविशंकर प्रसाद के द्वारा टिस्को जमशेदपुर और बोकारो स्टील से आॅक्सीजन की व्यवस्था कराए जाने का विशेष रूप से उल्लेख किया। प्रसाद और अन्य विधायको ने सामुदायिक किचेन को गरीबों, रिक्शावालों के क्षेत्र में और अधिक खोलने का आग्रह किया। भारत सरकार और प्रदेश सरकार ने दो माह के लिए मुफ्त राशन की व्यवस्था की है लेकिन ये शिकायत है कि पूरा राशन अभी नही मिल पा रहा है। प्रशासन इस बात की विशेष चिन्ता करे कि राशन उपलब्ध होना चाहिए और विशेष रूप से गरीबों के लिए फूड पैकेट की भी व्यवस्था होनी चाहिए।

केंद्रीय मंत्री प्रसाद के द्वारा स्वयं भी अस्पताल में मरीजों के परिजनों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है तथा कई मरीजों के लिए आपातकालीन स्थिति में ऑक्सीजन सिलेण्डर की भी व्यवस्था की गयी है। रविशंकर प्रसाद ने जिलाधिकारी को शहर के गली इत्यादि वाले इलाके और ग्रामीण क्षेत्रों में सैनेटाइजेशन को और व्यापक करने पर बल दिया। साथ ही शमशान घाट पर विद्युत शवदाह गृह तथा लकड़ी के माध्यम से कोविड से दुर्भाग्य पुर्ण मृत्यु होने वाले शवों का शुल्क रहित अंतिम संस्कार किए जाने हेतु निर्देश  दिया।

रविशंकर प्रसाद ने जिलाधिकारी को बताया कि उनके विशेष प्रयास से डाॅ नरेश त्रेहान ने आशवस्त किया कि अगले सप्ताह से कंकड़बाग स्थित मेदान्ता अस्पताल में कोविड के मरीजों का इलाज शुरू हो जाएगा। प्रसाद ने जिला प्रशासन और विधायकों को ये भी बताया कि उनके प्रयास से इन्दिरा गाँधी आर्युविज्ञान संस्थान, शेखपुरा पटना में 100 बेड को आॅक्सीजन आपूर्ति करने वाले ऑक्सीजन संयंत्र को जल्द ही स्थापित किया जाएगा।

रविशंकर प्रसाद ने यह भी बताया कि उनके प्रयास से पटना में लगभग 75 ऑक्सीजन काॅन्सट्रेटर की जल्द ही आपूर्ति की जाएगी जिसे विभिन्न प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र और विधायकों के सहयोग से जनता के उपयोग मे लाया जाएगा। प्रसाद ने आशवस्त किया कि वो अपने संसदीय क्षेत्र के लिए सदैव सक्रिय रहेंगें ताकि लोगों को राहत मिलें। उन्होंने बिहार सरकार मेें उप-मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय से भी अलग से बैठक कर कोविड के संबंध में विस्तृत रूप से चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *