बिहार: महाप्रबंधक की अध्यक्षता में ‘प्रबंधन में रेलकर्मियों की भागीदारी‘ ग्रुप की बैठक

हाजीपुर, मार्च 24, 2021: महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी की अध्यक्षता में बुधवार को हाजीपुर स्थित मुख्यालय के सभाकक्ष में ’प्रबंधन में रेल कर्मचारियों की भागीदारी’ (प्रेम समूह) की वर्ष 2021 की प्रथम बैठक का आयोजन किया गया है। बैठक में कोविड-19 से बचाव से जुड़ी कार्ययोजना एवं आग से होने वाली दुर्घटना के लिए किए गए निरोधात्मक उपायों की समीक्षा के साथ-साथ संरक्षा, रोलिंग डाउन, ई-ऑफिस एवं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कार्य क्षमता में वृद्धि एवं रेलकर्मियों के प्रशिक्षण जैसे सम-सामयिक विषयों पर विस्तृत विचार-विमर्श किया गया। बैठक में अपर महाप्रबंधक अशोक कुमार सहित सभी विभागाध्यक्ष एवं यूनियन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

बैठक के प्रारंभ में महाप्रबंधक ने कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई हेतु सभी विभागाध्यक्ष एवं प्रेम ग्रुप के सदस्यों को शपथ दिलाया। अपने अध्यक्षीय संबोधन में उन्होंने कोविड-19 के दौरान रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा किये गये कार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा की कोरोना महामारी के दौरान सभी रेलकर्मी जागरूक रहे तथा अपने कार्यों को पूरी लगन से निष्पादित किया। जिस कारण सोनपुर मंडल ने सर्वाधिक मालगाड़ियों का इंटरचेंज किया, दानापुर मंडल ने एक दिन में 105 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया। इसी तरह धनबाद मंडल ने एक दिन में रिकार्ड 8500 वैगन का आरआर के साथ लदान किया। उन्होंने कहा कि इस महामारी के प्रारंभ में ही हम ई-ऑफिस को शत-प्रतिशत लागू करने में सफल रहे हैं। इससे कार्य क्षमता में वृद्धि हुई है तथा पारदर्शिता बढ़ी है एवं समय की बचत हुई है। ई-ऑफिस के लागू होने से कार्य प्रणाली सुगम हुआ परिणामतः कर्मचारियों की पदोन्नति अभी तक एक वर्ष में सर्वाधिक किया गया जो एक रिकार्ड है। महाप्रबंधक ने कहा कि पूर्व मध्य रेल के सभी मंडलों में बिजनेश डेवलपमेंट यूनिट का गठन किया गया है इससे माल ढुलाई में वृद्धि हुई है।

महिला रेलकर्मियों की कार्य दक्षता की प्रशंसा करते हुए महाप्रबंधक ने कहा कि भारतीय रेल के इतिहास में पहली बार 13 मार्च को महाप्रबंधक स्पेशल का परिचालन पूर्णतः महिला रेलकर्मी द्वारा किया गया। आग से होने वाली दुर्घटना के लिए किए गए निरोधात्मक उपायों की समीक्षा से क्रम में महाप्रबंधक ने कहा कि अग्निषमन यंत्रों की रिफलिंग के पूर्व इनका प्रयोग कर्मचारियों के प्रशिक्षण के लिए किया जाना सुनिश्चित किया जाए।

इसी क्रम में महाप्रबंधक ने कहा कि यूनियन एवं एसोसिएशन के सहयोग से एक उपयुक्त कार्य प्रणाली तैयार कर नित नये तकनीक का प्रयोग कर हम रेल की छवि को और बेहतर कर सकते हैं। खासकर रेल यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाएं एवं संरक्षा कार्यों की गुणवत्ता में सुधार हो ऐसे तरीकों को पहचानना एवं उसकी चर्चा करना प्रेम ग्रुप का मुख्य उद्देश्य होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *