बिहार: कांग्रेस की कारस्तानियों के खिलाफ जनता के आक्रोश की अभिव्यक्ति है नड्डा जी का पत्र: संजय जायसवाल

154

पटना, 11 मई, 2021: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा सोनिया गांधी को लिखे पत्र को करारा जवाब बताते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा कि जेपी नड्डा जी द्वारा सोनिया गांधी को लिखे हुए पत्र ने कोरोना महामारी के इस दौर में कांग्रेस द्वारा की जा रही दोमुंही और ओछी राजनीति को पूरी तरह से उजागर करके रख दिया है।

उन्होंने कहा कि चिट्ठी का एक-एक शब्द कांग्रेस के नाकारेपन और आपदा में राजनीतिक अवसर तलाशने की उसकी मंशा को बेनकाब करने वाला है। वास्तव में जेपी नड्डा जी की यह चिट्ठी इस महामारी में कांग्रेस पार्टी द्वारा की जा रही कारस्तानियों के खिलाफ जनता के आक्रोश की अभिव्यक्ति है। इसमें तथ्यों के साथ वह सारे सवाल लिखे हुए हैं जो जनता कांग्रेसी नेताओं से जानना चाहती है। इसके अतिरिक्त उन्होंने इस पत्र में कांग्रेस के एक-एक झूठ और फैलाये गये दुष्प्रचार का भंडाफोड़ भी किया है।

उन्होंने कहा कि यह किसी से छिपा नहीं है कि कांग्रेस के नेता किस तरह से कोरोना संकट की आड़ में अपनी सियासी जमीन को खोजने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। चाहे वह लॉकडाउन का मुद्दा हो या टीकाकरण का, कांग्रेस के नेताओं ने हर मुद्दे पर जनता को भड़काने की पुरज़ोर कोशिश की है। इस षड्यंत्र में कांग्रेस के समान्य नहीं बल्कि दिग्गज नेता शामिल है। कांग्रेस के इन कर्णधारों के कारण पार्टी के बचे-खुचे और जनता से जुड़े नेताओं का मनोबल कैसे टूट रहा है, नड्डा जी ने अपने पत्र में इसका भी उल्लेख किया है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने पहले कहा कि भारतीय वैक्सीन खराब है और किसी को नहीं लगाना चाहिए। बाद में इन्होंने सरकार पर विदेशी वैक्सीनों को लाने की आज्ञा देने का दबाव बनाया और अब यह  सरकार द्वारा वैक्सीन विदेशों को दे दिए जाने की अफवाह उड़ा रहे हैं। जबकि हकीकत यह है कि कोविशिल्ड वैक्सीन के रॉ मैटेरियल विदेश से आते हैं और यहां उनका निर्माण होता है। इसकी निर्माता कंपनी का विदेश से रॉ मैटेरियल भेजने वाली कंपनियों से करार है कि वैश्विक आपदा के इस दौर में कच्चे माल के बदले, वैक्सीन निर्माण का लाभ उन्हें भी मिलना चाहिए। इसी करार के तहत निर्माता कंपनी उत्पादों का एक हिस्सा उन्हें दे रही थी। आखिर भला कोई यह कैसे कह सकता है कि हम आपके देश से कच्चा माल लेंगे पर आपको वैक्सीन नहीं देंगे। लेकिन आज प्रधानमंत्री मोदी जी के नीतिगत फैसलों के करण आज हमें कच्चा माल भी दिया जा रहा है और हमारी आवश्यकता को देखते हुए वैक्सीनों का ज्यादा से ज्यादा उपयोग देश में ही करने की छूट भी दी जा रही है।

डॉ जायसवाल ने कहा कि सोनिया-राहुल के नेतृत्व में बर्बाद हो चुकी कांग्रेस किस तरह अपनी राजनीति चमकाने के लिए झूठ और दुष्प्रचार पर उतर चुकी है, नड्डा जी के पत्र में इसका भी वर्णन है. उन्होंने सेंट्रल विस्टा परियोजना पर कांग्रेस द्वारा छेड़े जा रहे दुष्प्रचार पर उन्हें आइना दिखाते हुए यह याद दिलाया है कि इस परियोजना की मांग यूपीए काल में ही हुई थी। इसके अलावा उन्होंने सोनिया गांधी से केरल में राहुल की चुनावी रैलियों से हुए कोरोना स्प्रेड, कांग्रेस शासित राज्यों में सर्वाधिक कोरोना के मामलों, उन राज्यों में पीएम केयर फंड द्वारा भेजे गये वेंटिलेटरों के अनुपयोग जैसे मुद्दों पर बोलने की चुनौती भी दी है। कांग्रेस की ‘झूठ बोलो और भाग जाओ’ की वर्तमान रणनीति को देखते हुए हमें पूर्ण विश्वास है कि इस चुनौती का कोई सही जवाब नहीं आएगा।

SHARE