कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए संकल्पबद्ध होने की आवश्यकता – चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

जयपुर, 27 मार्च। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा है कि प्रदेश में कन्या भू्रण हत्या को रोकने की दिशा में व्याप्क कदम उठाए जा रहे है। डॉ शर्मा ने शनिवार को स्वास्थ्य भवन में पीसीपीएनडीटी एक्ट से सबंधित “इम्पैक्ट” साफ्टवेयर का शुभारंभ के अवसर पर कहा कि यह साफ्टवेयर पीसीपीएनडीटी एक्ट को अधिक मजबूत करेगा। इसका इंटीग्रेटेड रुप कन्या भ्रूण हत्या को रोकने में भी मददगार साबित होगा।
चिकित्सा मंत्री ने कहा कि इंटीग्रेटेड सिस्टम फॉर मॉनिटरिंग आफ पीसीपीएनडीटी “इम्पैक्ट” के जरिए नए सोनोग्राफी केन्द्रों के लिए आवेदन और भुगतान सबंधी कार्य आसानी से किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस सिस्टम के जरिए पीसीपीएनडीटी एक्ट के प्रावधानों के अनुसार निर्धारित सॉफ्टवेयर में  आनलाईन भरे जाने की सुविधा भी उपलब्ध होगी।
डॉ शर्मा ने कहा कि आनलाइन सिस्टम की सहायता से केन्द्रों के आवेदन के स्टेटस को यूनिक आईडी के जरिए ट्रैक किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण पंजीकरण प्रक्रिया में आवेदक को अपडेट करने के लिए मोबाइल एसएमएस की सुविधा भी उपलब्ध होगी। साथ ही फॉर्म “बी” की ई-प्रति भी आनलाइन निकाली जा सकती है।
महिला कोरोना वॉरियर को किया सम्मानित
चिकित्सा मंत्री ने कार्यक्रम में कोरोनाकाल में उत्कृष्ट कार्य करने करने वाली विभिन्न विभागों में से चयनित 9 महिला वाॅरियर को भी सम्मनित किया। उन्होंने कहा कि महिला की भागीदारी कोरोना से लड़ने में उल्लेखनीय रही है। उन्होंने आमजन की सेवा में उत्कृष्ट योगदान दिया है। जिसके लिए वे प्रशंसा और धन्यवाद की पात्र है। डॉ शर्मा ने जिन महिला वाॅरियर को सम्मानित किया उनमें डॉ भारती मल्होत्रा, डॉ गुणमाला जैन, सुनीता मीणा, डॉ रुचि सिंह, सरोज कुमारी, कौशल्या पंवार, गोपाली शर्मा, हेमलता शर्मा और पुष्पा देवी सम्मलित है।
कैलेंडर का विमोचन
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने विभिन्न स्वास्थ्य दिवसों से सबंधित एक कैलेंडर का भी इस मौके पर विमोचन किया। उन्होंने कहा कि इस कैलेंडर को को समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों व कल्याण केन्द्रों पर लगाया जाएगा। जिससे कि आमजन को विभिन्न स्वास्थ्य दिवसों की जानकारी प्राप्त हो सके। इस कैलेंडर में वर्ष भर में आयोजित होने वाले 39 स्वास्थ्य दिवसों की जानकारी दी गई है।
ई-संजीवनी एप के लिए पोस्टर का विमोचन
डॉ शर्मा ने ई-संजीवनी मोबाइल एप से सबंधित एक पोस्टर का भी विमोचन किया। उन्होंने कहा कि विभाग ने ई-संजीवनी ओपीडी सेवाओं की जागरुकता के लिए मोबाइल एप्लीकेशन के विभिन्न चरणों की सरल हिन्दी में जानकारी के लिए यह पोस्टर तैयार किया है। उन्होंने कहा कि ई-संजीवनी ओपीडी टेली मेडिसन के जरिए घर बैठे चिकित्सकों से परामर्श प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि गंभीर रोगी अपने उपचार के फाॅलोअप के लिए भी इस सेवा का लाभ ले सकते है।
कार्यक्रम में चिकित्सा सचिव श्री सिद्धार्थ महाजन, एनएचएम निदेशक श्री नरेश ठकराल, आरसीएच श्री एलएस ओला, एएसपी पीसीपीएनडीटी श्रीमती शालिनी सक्सेना सहित अन्य विभागीय अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *