नई दिल्ली: WHO के अनुसार दुनिया के 44 देशो में मिला कोरोना का भारत वाला वेरिएंट, ब्रिटेन में इसका सबसे ज़्यदा असर

144

नई दिल्ली, 12 मई, 2021: भारत में कोरोना की दूसरी लहर का स्वरूप अब दुनिया के कई देशो में भी पाया जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बुधवार को कहा कि भारत में कोरोना के जिस वेरिएंट से स्थिति खराब हुई है, वही वेरिएंट दुनिया के बहुत से देशो में पाया गया है। WHO एजेंसी के अनुसार कोरोना B.1.617 वेरिएंट गत वर्ष अक्टूबर  में भारत में मिला। अब यह वेरिएंट WHO के सभी 44 देशो में पाया गया है।

भारत के अलावा ब्रिटेन में सबसे ज्यादा इस वेरिएंट के मामले सामने आए है। इस सप्ताह के शुरू में WHO ने B.1.617 की घोषणा की- जो अपने म्युटेशन और विशेषताओं की वजह से “चिंता का एक प्रकार” के रूप में गिना जाता है। इसे पहली बार ब्रिटेन, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के तीन अन्य वेरिएंट वाली सूची में जोड़ा गया था। मूल वायरस की तुलना में इस वेरिएंट को अधिक खतरनाक माना जा रहा है क्योंकि वे ज्यादा तेजी से फेल रहे हैं और अधिक घातक भी साबित हो रहे है।

देश में कोरोना के नए मामलों में कुछ दिनों से कमी देखी जा रही है, लेकिन मौत का बढ़ता आंकड़ा देख कर अब भी चिंता कायम है। भारत में कोरोना से होने वाली मौत ने अबतक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। देश में पहली बार एक दिन में 4200 लोगों ने जान गंवाई है। भारत में कोरोना के संक्रमण के नए मामले 3.48 लाख हो गए हैं। इसको मिला कर देश में कुल मामले की संख्या 2,33,40,428 हो गए।

स्वास्थ मंत्रालय के हिसाब से, बीते 24 घंटे में संक्रमण के 3,48,529 नए मामले सामने आए और 4200 लोगों की मौत होने के बाद कोरोना से मरने वाले की कुल संख्या बढ़कर 2,54,227 हो गई। दो महीने लगातार मामले बढ़ने के बाद संक्रमितो की संख्या कम होकर 36,98,665 हो गए, जो की संक्रमण के कुल मामलों का 16.16% है। इसके अलावा संक्रमितो के ठीक होने के दर 82.75% हो गई है।

SHARE