जयपुर, 28 जून। प्रदेश की सड़कों के विकास के लिए उप मुख्यमंत्री श्री सचिन पायलट के विजन की सफलता में एक और अहम कड़ी जुड़ गई है। प्रदेश में 11 राज्य राजमार्गों (स्टेट हाइवेज) के विकास के लिए गुरूवार को राजस्थान के सार्वजनिक निर्माण विभाग, भारत सरकार के आर्थिक मामलात विभाग और वल्र्ड बैंक के अधिकारियों के बीच ऋण अनुबंध किया गया।

उप मुख्यमंत्री श्री पायलट ने कहा है कि प्रदेश में सड़क तंत्र के विकास तथा सुगम एवं सुरक्षित यातायात के लिए हर सम्भव प्रयास किए जाएंगे। राजस्थान राज्य राजमार्ग विकास कार्यक्रम-2 के अंतर्गत प्रदेश में 767 किलोमीटर लम्बाई के 11 राज्य मार्गों के विकास के लिए 250 मिलियन डॉलर (1750 करोड़ रुपये) का यह अनुबंध किया गया है।

इस अनुबंध का राजस्थान के कुल 13 जिलों को लाभ मिलेगा और प्रदेश के एक बड़े हिस्से में सड़क यातायात सुगम होगा। अनुबंध के तहत होने वाले सड़क विकास कार्यों से श्रीगंगानगर, बीकानेर, झुंझुनूं, चुरू, सीकर, अजमेर, टोंक, जालौर, जोधपुर, नागौर, पाली, जयपुर और भीलवाड़ा जिले लाभान्वित होंगे।

यह ऋण अनुबंध नई दिल्ली स्थित वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलात विभाग में सम्पन्न हुआ। इस अनुबंध पर सार्वजनिक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता एवं अतिरिक्त सचिव, आर्थिक मामलात विभाग के अतिरिक्त सचिव तथा वल्र्ड बैंक के एक्टिंग कंट्री डायरेक्टर ने हस्ताक्षर किए।