जयपुर, 17 जून। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा 25 मार्च 2019 को आयोजित आर्थिक अन्वेषक सीधी भर्ती परीक्षा-2018, परीक्षा कोड 57 का मास्टर प्रश्न पत्र तथा इसकी प्रारम्भिक उत्तर कुंजी बोर्ड की वेबसाइट www.rsmssb.rajasthan.gov.in पर जारी कर दी गयी है। यदि किसी परीक्षार्थी को प्रश्न पत्र में सम्मिलित किसी/किन्हीं प्रश्न अथवा इसके/इनके उत्तर के संबंध में कोई आपत्ति हो तो निर्धारित शुल्क के साथ 20 से  22 जून, 2019 रात्रि 12 बजे तक अपनी ऑनलाईन आपत्ति बोर्ड की वेबसाइट पर दर्ज करवा सकते है।
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सचिव डॉ. मुकुट बी. जांगिड़ ने बताया कि परीक्षार्थियों को परीक्षा में अलग-अलग सेट के प्रश्न पत्र उपलब्ध कराये गये है। अपलोड किये गये मास्टर प्रश्न पत्र में उनको उपलब्ध कराये गए प्रश्न पत्र के सभी प्रश्न अलग-अलग क्रमांक पर सम्मिलित हैं। उनके प्रश्न पत्र में किसी प्रश्न के उत्तर के दिये गये विकल्पों का क्रम भी अपलोड किये गये मास्टर प्रश्न पत्र के प्रश्न के उत्तर के विकल्पों में भिन्न क्रम में हो सकता है।
उन्होंने बताया कि बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किये गये मास्टर प्रश्न पत्र की प्रश्न संख्या व उत्तर के विकल्पों के क्रम के आधार पर ही अपनी आपत्तियॉं दर्ज करें। इसका ध्यान अवश्य रखें।
डॉ. जांगिड़ ने बताया कि बोर्ड द्वारा प्रत्येक आपत्ति का शुल्क 100 रूपये निर्धारित किया गया है। इस के लिए परीक्षार्थी बोर्ड की वेब साईट पर उपलब्ध  ऑनलाइन आपत्ति के लिंक पर जाकर अपनी  ेेव आई.डी. के माध्यम से देय शुल्क ई-मित्र पेमेन्ट गेट-वे या ई-मित्र कियोस्क पर, जितने प्रश्नों पर आपत्तियॉं करनी है, उसके अनुसार प्रति प्रश्न  100 रूपये की दर से देय शुल्क का भुगतान करें। भुगतान के लिए सर्विस चार्जेज ई-मित्र द्वारा अलग से वसूल किया जावेगा। शुल्क के अभाव में आपत्तियॉं स्वीकार नहीं की जावेंगी।
उन्होंने बताया ऑनलाइन आपत्तियों का लिंक केवल 20 से 22 जून तक रात्रि 12 बजे तक ही उपलब्ध है, उसके पश्चात् लिंक निष्कि्रय हो जाएगा। अन्य किसी माध्यम से अथवा निर्धारित तिथि के बाद भेजी गई आपत्तियॉं स्वीकार नहीं की जायेगी। आपत्तियॉं केवल एक बार ही ली जायेगी। आपत्तियों के लिये पोर्टल पर Standerd Authentic पुस्तकों के प्रमाण ही ऑनलाइन संलग्न करें। ऎसे प्रमाण के प्रत्येक पृष्ठ पर अपना रोल नम्बर और संबंधित प्रश्न की क्रम संख्या लिखकर ही अपलोड़ करें। संदर्भ में पुस्तक का नाम, लेखक/ लेखकों के नाम, प्रकाशक का नाम, संस्करण वर्ष और पृष्ठ संख्या भी लिखा जाना आवश्यक है। वांछित प्रमाण संलग्न नहीं होने की स्थिति में आपत्तियों पर विचार नहीं किया जायेगा।
उन्होंने बताया कि परीक्षार्थी द्वारा आपत्ति शुल्क के पेटे अधिक जमा कराई गई राशि का किसी भी स्थिति मेें रिफण्ड नहीं होगा। अतः वे आवश्यकतानुसार देय शुल्क ही जमा करावें।