भोपाल | 15-जनवरी-2018

   जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा जिला स्तर एवं परियोजना स्तर पर टीम गठित कर क्षेत्रीय अमले को सजग रहने एवं बाल विवाह की सूचना मिलते ही उन्हें समझाइश देने के निर्देश दिये गए हैं। महिला बाल विकास विभाग अंतर्गत समस्त परियोजना अधिकारियों को पत्र भेज कर समस्त सुपरवाईजर, आंगनवाडी़ कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं को निर्देशित किया गया है कि किसी भी स्थिति में गॉव एवं वार्ड में बाल विवाह नहीं होने दें। सभी सर्विस प्रोवाईडर्स जैसे पंडित, मौलवी, प्रिंटर्स, हलवाई, बैण्डवाला, ट्रांसपोर्टर, ब्यूटीपार्लर वाले मैरिज गार्डन मालिक, आदि से आग्रह किया गया है कि “नियमानुसार बाल विवाह नहीं है’’ प्रमाणित होने पर ही अपनी सेवाएं देना सुनिश्चित करें।